Kam Ki BaatYojana

PM किसान सम्मान निधि योजना : 75,000 करोड़ किसानों के लिए आबंटित|बजट 2021|

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को देश के किसानों के लिए कई उपायों की घोषणा की और कहा कि इस वर्ष का बजट किसान की आय को दोगुना करना है।

इससे पहले कि हम किसानों के लिए किये हुए घोषणाओं को जाने , आइये जानते है की PM किसान सम्मान निधि योजना में किसानो के लिए क्या क्या प्रावधान और फायदे दिए है जो उनको आय को बढ़ाने में मदद करते है |

1. भारत के किसी भी राज्य के किसान इस स्कीम का लाभ पाने के लिए योग्य है |

2. वह किसान जिसे 10,000 या ज्यादा तक की पेंशन प्राप्त होती है ,उसे इस स्कीम की सूची से बाहर किया गया है |

3. आय का समर्थन पहले से ही उन किसान परिवारों को दिया गया था, जिनके पास 2 हेक्टेयर ऐसी भूमि हो जो खेती करने लायक हो |

4. किसान इस योजना में सीधे, बड़ी आसानी से ऑनलाइन आवेदन भर सकते है | उन्हें सरकार के PM किसान पोर्टल पर जाना होगा |

5. जो इस स्कीम के लिए आवेदन भर रहा है तो उसके पास आधार कार्ड का होना अति आवश्यक है , तभी वह रजिस्टर कर सकता है |

बजट 2021 – किसानों के लिए महत्वपूर्ण घोषणाएं

किसानों के हितों को पूरा करने के लिए वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश के किसानों के लिए 75,100 करोड़ आवंटित किए गए हैं|

सरकार ने वित्त वर्ष 2021-2022 में कृषि ऋण लक्ष्य को बढ़ाकर 16.5 लाख करोड़ रुपये करने की भी घोषणा की|

वित्त मंत्री ने कहा कि बड़े पैमाने पर किसानों के विरोध के बाद, न्यूनतम समर्थन मूल्य के तहत सरकार द्वारा उपज की खरीद का काम जारी रहेगा।
इसके तहत, 43.46 लाख गेहूं उगाने वाले किसानों को एमएसपी के तहत सरकारी खरीद से लाभान्वित किया जाएगा, जो पहले 35.57 लाख था।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि 2019-20 में गेहूं खरीद के लिए किसानों को दी जाने वाली राशि 62,802 करोड़ थी और 2020-21 में इसे बढ़ाकर 75,060 करोड़ कर दिया गया। MSP योजना के कारण लगभग 1.4 करोड़ किसानों को लाभ हुआ है।

Thank you for reading this post, don't forget to subscribe!

Related Articles

Back to top button
error: Alert: Content is protected !!