Kam Ki BaatNewsYojana

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना क्या हैं ? जानिए इसके बारे में विस्तार से |

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना के तहत लाभ पाने के लिए किसानों को हर महीने औसतन 100 रुपये का योगदान करना होगा। इस योजना को चुनने वाले किसानों को 60 साल की आयु पूरा होने पर हर महीने 3,000 रुपये पेंशन मिलेगी। इस कोष का प्रबंधन भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) करेगा। इससे सरकारी खजाने पर 10,774.5 करोड़ सालाना बोझ पड़ेगा।

कृषि को बढ़ावा देने के लिए और किसानों की आय दुगुना करने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने अपनी दूसरी पारी की पहली कैबिनेट की बैठक में ही किसानों के लिए एक नई और आकर्षक पेंशन योजना की शुरुआत कर दी और उससे आम लोगों व गरीबों को भी जोड़ दिया है।

बहरहाल, प्रधानमंत्री पेंशन योजना के तहत किसानों, आम लोगों और गरीब को 3000 रुपये की मासिक पेंशन देने की मंजूरी दी गई है, जिसे मोदी सरकार का किसानों को दिया गया बड़ा तोहफा करार दिया जा रहा है। क्योंकि इस योजना के तहत किसान की मृत्यु होने के बाद उसकी पत्नी को पेंशन का आधा पैसा मिलेगा।

क्या है प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना?

प्रधानमंत्री किसान पेंशन योजना के तहत लाभ पाने के लिए किसानों को हर महीने औसतन 100 रुपये का योगदान करना होगा। इस योजना को चुनने वाले किसानों को 60 साल की आयु पूरा होने पर हर महीने 3,000 रुपये पेंशन मिलेगी। इस कोष का प्रबंधन भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) करेगा। इससे सरकारी खजाने पर 10,774.5 करोड़ सालाना बोझ पड़ेगा।

पीएम किसान पेंशन योजना के बारे में राज्य के कृषि मंत्रियों के साथ हुई बातचीत में केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा था कि सभी राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेशों में इसे जल्द से जल्द लागू किया जाए और सरकारें ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन करवाएं। उन्होंने राज्यों से कहा है कि 18 से 40 वर्ष की आयु के बीच के किसानों का पंजीकरण करवाएं। इस योजना के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए भी कुछ महत्वपूर्ण कदम उठाएं। इस योजना में किसी भी शिकायत के समाधान के लिये ऑनलाइन निपटान प्रणाली होगी।

बता दें कि यह योजना पीएम किसान सम्मान निधि योजना से अलग होगी जिसके तहत अब सभी किसानों को सालाना 6,000 रुपये मिल रहे हैं। इसके अतिरिक्त, किसानों के लिए जिस नई पीएम किसान पेंशन योजना का भी एलान किया गया है, उससे देश के 14.5 करोड़ किसानों को सीधा लाभ मिलेगा।

गौरतलब है कि कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने पिछले दिनों कहा था कि पीएम किसान सम्मान निधि के तहत 3 करोड़ से अधिक किसानों के खातों में पैसा पहुंच चुका है और अभी तक इससे 12.5 करोड़ किसान कवर हो रहे थे तथा करीब 2 करोड़ किसान छूट रहे थे। लेकिन अब इस नई पीएम किसान पेंशन योजना के तहत सभी किसान इसके दायरे में होंगे। उन्होंने कहा था कि इस योजना पर पहले 75 हजार करोड़ खर्च होते, लेकिन अब 12 हजार करोड़ रुपये और बढ़ेगा खर्च। यानि कि अब 87 हजार करोड़ रुपये सालाना खर्च होगा। सरकार का मानना है कि इन योजनाओं से किसानों, छोटे व्यापारियों के जीवन स्तर में सुधार होगा और उन्हें सामाजिक सुरक्षा मिलेगी।

प्रधान मंत्री किसान पेंशन योजना का उद्देश्य –

  • प्रधान मंत्री किसान पेंशन योजना का प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी का किसानों को पेंशन द्वारा लाभ प्रदान करना है।
  • इस योजना के तहत 10 से 15 करोड़ किसानों को शामिल करने की बात तय की गयी है।
  • इस योजना के कारण किसानों को मनोबल मिलेगा

आवेदन के लिए जरुरी दस्तावेज-

  • आवेदनकर्ता का आधार कार्ड | आवेदक का आधार कार्ड मोबाइल से लिंक होना चाहिए।
  • किसान और उसकी पत्नी का नाम और जन्म तिथि।
  • जमीन की खसरा और खतौनी की नकल|
  • बैंक खाता और बैंक IFSC/MICR कोड की जानकारी|
  • किसान का मोबाइल नंबर उसके बैंक अकाउंट और आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए|


योजना की कुछ महत्वपूर्ण शर्तें-

  • 18 से 40 आयु वर्ग के किसानों को इस योजना में शामिल किया जायेगा।
  • पति-पत्नी दोनों हो सकते हैं योजना में शामिल शर्त ये रहेगी की दोनों को अपना अंशदान अलग अलग से देना होगा|
  • जब किसान की आयु 60 वर्ष पार होगी तो उसे ₹3000 मासिक पेंशन मिलती रहेगी।
  • यदि किसान की किसी कारणवश मृत्यु हो जाती है तो Pension उसकी पत्नी को मिलेगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!